CSC E Vigyapan | सीएससी ई विज्ञान

अपने VLE के द्वारा सीएससी सेंटर पर डिजिटल एलइडी टीवी के माध्यम से विभिन्न प्रकार के सेवा एवं उत्पादों के प्रचार करने के लिए सीएससी ने CSC E Vigyapan Seva की शुरुआत की है |

E Vigyapan | ई विज्ञानपान

किसी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के माध्यम से चाहे वह मोबाइल पर फेसबुक इंस्टाग्राम युटुब या बड़े-बड़े डिस्प्ले बोर्ड हो या स्मार्ट टीवी के माध्यम से किसी भी उत्पाद या सेवा का प्रचार करना ही E Vigyapan है | खासकर हमारे भारत जैसे विशाल देश में जो बदलाव और डिजिटलाइजेशन का कार्य पिछले 10 वर्षों में हुआ है उसको देखते हुए यह सुनिश्चित हो गया है कि आने वाला भविष्य E Vigyapan का ही होगा | आज के इस डिजिटल युग में E Vigyapan पर बहुत बड़ा कब्जा फेसबुक इंस्टाग्राम और यूट्यूब का है इसके साथ-साथ बहुत सारी बड़ी-बड़ी कंपनियां डिजिटल डिस्पले बोर्ड और स्मार्ट टीवी का नेटवर्क भी खड़ा कर रही है ताकि उसके माध्यम से किसी भी सेवा या उत्पाद का विज्ञापन आसानी से लोगों तक पहुंचा जा सके | इस डिजिटलाइजेशन को बढ़ाने में सीएससी का भी बहुत बड़ा अहम रोल है क्योंकि सीएससी की पहुंच दूर-दराज एवं ग्रामीण क्षेत्र के नागरिकों तक है |

Table of Contents

Objectives of CSC E Vigyapan | सीएससी ई विज्ञापन के उद्देश्य

सीएससी का विशाल नेटवर्क हर पंचायत तक फैला हुआ है | सरकार कि किसी भी सुविधा को दूर-दराज तक ग्रामीणों को पहुंचने में सीएससी का बहुत ही बड़ा अहम रोल है | सीएससी ई विज्ञापन का उद्देश्य केंद्र संचालक को एक सुनिश्चित और अच्छा आमदनी का साधन प्रदान करना है | साथ ही साथ ग्राहकों को बहुत सारे उत्पादों और सेवाओं के बारे में उचित जानकारी उपलब्ध कराना है |
CSC E Vigyapan

ई विज्ञानपान के बहुत सारे फायदे हैं उन फायदे के बारे में जाने

Reach Target Audience | लक्षित दर्शक तक पाहुंच

पुराने और पारंपरिक प्रचार के जो माध्यम है उसमें हम लक्षित लोगों तक अपने प्रचार को नहीं पहुंचा सकते हैं | ई विज्ञापन के माध्यम से विज्ञापन दाता अपना लक्ष्य निर्धारित कर सकता है उन्हें अपने विज्ञापन को किस उम्र के लोगों को दिखाना है, किस स्थान के लोगों को दिखाना है, किस तरह के लोगों को दिखाना है, कब-कब दिखाना है इन सभी चीजों का निर्णय जो प्रचार करवा रहे हैं वो कर सकते हैं | साथ ही साथ हम यह पता कर सकते हैं कि कितने लोगों ने विज्ञापन को देखा कितने देर तक देखा |

Expenses On E-Advertising | ई विज्ञानपान पर होने वाले खर्च

पारंपरिक और पुराने प्रचार के माध्यम जैसे कि बड़े-बड़े पोस्टर और होर्डिंग लगाना, ठेला रिक्शा पर माइक और पोस्टर लगवा कर के प्रचार करवाना, अखबार में इश्तहार देना बहुत ही महंगे परते है | उसके अपेक्षा ई विज्ञापन का खर्च कम होता है | टेलीविजन और रेडियो भी ई विज्ञानपान के श्रेणी में ही आते हैं पर वह ज्यादा महंगे और बड़े कंपनियों के प्रचार लिए हैं |

Impact Of E-Advertising | ई विज्ञापन का प्रभाव

पारंपरिक विज्ञापन की अपेक्षा की ई विज्ञापन ज्यादा सटीक ज्यादा असरदार और विज्ञापन दाता के लक्ष्य को ज्यादा पूरा करने वाला होता है |

Details Of CSC E Vigyapan | सीएससी ई विज्ञानपान का विवरण

ई विज्ञापन के लिए सीएससी VLE को अपने सेंटर पर एक 40 इंच का एलइडी टीवी और एक सीएससी ई विज्ञापन मीडिया प्लेयर की खरीदारी https://vle.cscestore.in/ करनी होगी जिसका कीमत 3370+18% GST कुल 3977 रुपए होगी साथ ही साथ उनके सीएससी सेंटर पर ग्राहकों को बैठने के लिए जगह की व्यवस्था होनी चाहिए |

CSC E Vigyapan

Income From E-Advertising | ई विज्ञापन से होने वालीआमदनी

ई विज्ञापन से होने वाली आमदनी को नीचे फोटो में दर्शाया गया
CSC E Vigyapan

Conclusion | निष्कर्ष

अंत में सीएससी भारत के नागरिकों को डिजिटल विज्ञापन के माध्यम से विभिन्न सारी सेवाओं एवं बहुत सारे उत्पादों के बारे में सटीक एवं सही जानकारी उपलब्ध करा करके उनसे होने वाले लाभ एवं हानि को समझा कर भारत के नागरिकों को सशक्त और जागरूक बनाने का उद्देश्य लेकर आई है सीएससी का ई विज्ञापन सेवा |
Scroll to Top